श्री कृष्ण के अनुसार अच्छे लोगों के साथ बुरा क्यों होता है?|Why Bad things happen with Good People

आज हम आपको बताएँगे कि आखिर अच्छे लोगों के साथ हमेशा बुरा ही क्यों होता है जिसका वर्णन भागवत गीता में भगवान् कृष्ण ने विस्तार से किया है मित्रों आपने भी देखा या फिर महसूस किया होगा कि आपके आस पास धर्म कर्म और पूजा पाठ में लीन रहने वाले लोगों की जिंदगी खुशहाल नहीं होती जितने कि दुष्ट और अधर्मी लोगों कि होती है और ये सब देखकर आपके के भी मन में कभी ना कभी ये सवाल जरूर उठा होगा कि आखिर अच्छे लोगों के साथ बुरा क्यों होता है।

परन्तु आज के अधिकतर जनमानस इस रहस्य के बारे में नहीं जानते जिसका सबसे बड़ा कारण है कि वे धर्मग्रंथों को सही से पढ़ते नहीं या फिर उसमे लिखी बातों पर विश्वास ही करते। आज की इस वीडियो में हम आपको बताएँगे कि आखिर अच्छे लोगों के साथ हमेशा बुरा ही क्यों होता है जिसका वर्णन भागवत गीता में भगवान् कृष्ण ने विस्तार से किया है।

धर्मग्रंथों में भागवत गीता एक ऐसा धर्म ग्रन्थ है जिसमे मनुष्य के मन में उठने वाले हर प्रश्नो का हल विस्तार से बताया गया है। भागवत गीता में वर्णित कथा के अनुसार अर्जुन के मन में जब भी कोई दुविधा उत्पन्न होती थी वो उसके समाधान के लिए श्री कृष्ण के पास पहुँच जाते थे।

एक दिन कि बात है अर्जुन भगवान श्री कृष्ण के पास आये उनसे बोले हे वासुदेव मुझे एक दुविधा ने घेर रखा है और इसका समाधान आप ही बता सकते हैं। तब श्री कृष्ण ने अर्जुन से कहा हे धनञ्जय अपने मन की दुविधा विस्तार से बताओ तब मैं तुम्हे उसका हल बताऊंगा। तब अर्जुन बोले हे नारायण कृपया कर मुझे ये बताइये की अच्छे लोगों के साथ हमेशा बुरा ही क्यों होता है जबकी बुरे लोग हमेशा खुशहाल दिखते हैं। अर्जुन की मुख से ऐसी बातें सुनकर श्री कृष्ण मुस्कुराते हुए बोले हे पार्थ मनुष्य जैसा देखता है या फिर महसूस करता है वास्तव में वैसा कुछ नहीं होता बल्कि अज्ञानता वश वह सच्चाई को समझ नहीं पाता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *